ओझा के खिलाफ कार्रवाई होगी: एसपी

ओझा, जनगुरु जैसे बाबाओं के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई से खत्म होगा तथाकथित डायन का अन्धविश्वास

पश्चिम मिदनापुर के दासपुर थाना अंतर्गत दुबराजपुर में तथाकथित डायन के संदेह में तीन महिलाओं की नृशंस हत्या का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि पुरुलिया जिले के जयपुर थाना स्थित चिटाही गाँव में एक बुजुर्ग दंपत्ति को डायना बताकर उनपर जानलेवा हमला करने की घटना प्रकाश में आई है. पुलिस सूत्रों के अनुसार बुजुर्ग दंपत्ति भरत महतो एवं गौरी महतो पर तथाकथित डायन के आरोप में हमल किया गया. हमले में दंपत्ति समेत उनके दो महावीर पुत्र महतो एवं वैद्यनाथ महतो गंभीर रूप से घायल हो गये जिन्हें इलाज के लिए पुरुलिया अस्पताल में भारती कराया गया. प्राथमिक चिकित्सा के बाद महावीर ओर वैद्यनाथ को छुट्टी दे दी गई, जबकि दंपति भरत एवं गौरी की हालत गंभीर बनी हुई है. अस्पताल के चिकित्सक ने घायल दंपति का सिटी स्कैन किया तो पता चला है की इनके सर में गंभीर चोट लगी हैं जिससे अब दंपति को इलाज के लिए कोल्कता भेजा जा रहा है. इधर, इस हमले की घटना में स्थानीय जयपुर थानें में हमले के शिकार परिवार वालों की ओर 5 से लोगो के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई. शिकायत के अधर पर पुलिश ने जरिशंकर महतो नामक एक व्यक्ति की गिरफ्तार कर उन्हें पुरुलिया जिला अदालत में पेश किया जहां से न्यायाधीश ने हरिशंकर को पुलिस हिरासत में भेजने का निर्देश दे दिया. जबकि इस घटनन में 4 अन्य अरोपियों को पुलिस तलाश कर रही है. स्थानीय के सूत्र अनुसार जयपुर ग्राम पंचायत के चिटाही गांव के निवासी हरिशंकर महतो एवं उसकी पत्नी रेबती महतो को सिर्फ एड 10 साढ़े वर्षीया बेटी है जबकि हमेशा उनके अंदर बेटे की चाहत बनी रहती है. मगर शारीरक कारणों से रेबती का बार – बार प्रसव हो जाने से हरिशंकर काफी चिंत में डूबे हुए थे. आखिकार कुछ लोगों के सुझाव से हरिशंकर ने तुम्बा गांव में एक ओझा से मुकालात की. उन्हें सारी बातें बतायी. ओझा ने अपनी तंत्र – मन्त्र से यह पता लगाया कि दंपति हहिशंकर – रेबती को पुत्र नहीं होने के पीछे उसके पड़ोसी बुजूर्ग दंपति भारत व गौरी महतो की बुरी नजर है. ओझा के निर्देश पर हरिशंकर 4 ने लोगों के साथ मिलकर गत बुधवार की रात में बुजुर्ग दम्पति पर हमला कर दिया. हमले में अपने माता – पिता को बचने गये महावीर एवं वैद्यनाथ पियासी घायल हो गये. इस पूरी घटना में पुलिस ने शिकायत के आधार पर हरिशंकर को गिरफ्तार कर लिया. उधर, इस पूरी घटना के लिए ओझा को आरोपी बताते हुए भारतीय विज्ञान व युक्तिवादी समिति के पुरुलिया जिला सचिव मधुसूदन महतो ने कहा की तथाकथित डायन के आरोप में किसी महिला या दंपति पर जानलेवा हमले की यह घटना ने फिर साबित कर दिया कि आज पियासी बंगाल कितना अंधविश्वास में डूबा हुआ है सिर्फ. तथाकथित डायन नामक एक भयंकर अन्धविश्वास को जरिया बनाकर ओझा, जनगुरु जैसे पाखंडी बाबाओं का दबदबा आदिवासी समाज में कायम है. सर इन ओझा, जनगुरु के कहने पर किसी असहय दंपति पर जानलेवा हमला किया जाता है. अगर सही मायने में तथाकथित डायन का अन्धविश्वास को समाज से उखाड़ फेंकना है तो सबसे पहले इन ओझ, जनगुरु जैसे बाबाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाये. इस मांग को लेकर भारतीय विज्ञानं व युक्तिवादी समिति की ओर से पुरुलिया पुलिस अधीक्षक सी सुधाकर. को शिकायत की गयी. श्री सुधाकर ने आश्वासन दिया कि मामले में ओझा एवं अन्य आरोपिओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. श्री महतो ने कह कि बुजूर्ग दंपति पर डायन के नाम पर हमले की घटना की खबर मिलते ही संगठन की जिला कमेटी उपाध्यक्ष रामनाथ महतो ने पीड़ित दंपति से मुलाकात की. संगठन की ओर से मधुसूदन महतो ने महावीर से बात कर उन्हें हर संभव क़ानूनी मदद का भरोसा दिया.

Share

Leave a Reply

 

 

 

You can use these HTML tags

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>